सेहत समाचार

फीचर्ड

Chia seeds in Hindi – चिया बीज के १० फायदे

chia seeds in Hindi

चिआ के फायदे तो बहुत है. ये आर्टिकल हमने डेडिकेट किया है चिया के बीजों को हिंदी में समझने (chiya seeds in Hindi), चिया के फायदे और इस्तेमाल करने के तरीको पर.

शायद आपको मालूम न हो पर चिया  सीड्स को जितनी पॉपुलैरिटी पिछले दस सालो में मिली है उतनी तो उसको फिछले कई सौ सालो में नहीं मिली.

चिया बीज और तुख मलंगा में फर्क है. दोनों एक नहीं इस बात को आप शायद जानते है. अगर उसपर जानकारी चाहिए तो इस आर्टिकल को पढ़े. 

चिया  सीड्स वस्तुतः मैक्सिको की पैदावार होती थी. उसका उपयोग स्थानीय लोग बहुत नहीं करते थे. खाने के स्वाद बढ़ाने में और कुछ लोकल जड़ीबूटियों में इसका उपयोग होता था.

पर जब से अमेरिका के एक अखबार में कुछ वर्षो पहले इसके गुणों पर एक लेख प्रकाशित हुआ तब से चिया  के बीज बहुत ज्यादा पॉपुलर हो गए. धीरे धीरे इसके गुणों का ज्ञान पूरी दुनिया के साथ साथ भारत में भी हुआ.

और तब से चिया  के बीज भारत में भी बहुत उपयोग में लाये जाने लगे.

चिया  के बीजो की नुट्रिशन जानकारि (nutrition of chia seeds)

अगर आप चिया  बीज के नुट्रिशन फैक्ट्स देखेंगे तो आपको आश्चर्य होगा की ये बहुत सामान्य से नुट्रिशन फैक्ट्स है. और गहराई में जायेंगे तो आप समझ पाएंगे की आखिर चिया  बीज इतने काम के क्यों है.

पहले हम समझते है इसके साधारण से नुट्रिशन फैक्ट्स

Nutrition Facts

Serving Size 20gm


Amount Per Serving
Calories 90Calories from Fat 40
% Daily Value *
Total Fat 4.5g7%
Saturated Fat 0.5g3%
Trans Fat 0g
Cholesterol 0mg
Potassium 220mg7%
Total Carbohydrate 9g3%
Dietary Fiber 7g29%
Sugars 0g
Protein 5g10%

Vitamin A 0%
Calcium 10%
Iron 10%
Vitamin D 0%
Vitamin E 0%
Magnesium 25%

* Percent Daily Values are based on a 2,000 calorie diet. Your daily value may be higher or lower depending on your calorie needs.

इसमें आप देख सकते है की ये इसमें आयरन, कैल्शियम और मैग्नीशियम काफी मात्रा में है.

कैल्शियम तो आप जानते ही है की हड्डियों के लिए कितना जरूरी है. पर साथ ही आयरन और मैग्नीशियम भी शरीर के लिए उतने ही जरूरी पोषक तत्त्व है. इनमे से किसी की भी कमी आपको बहुत नुक्सान पहुंचा सकती है।

खैर, ये सरे पोषक तत्व् आपको और भी बहुत सी वस्तुओ में मिल जायेंगे।

आज जो हम आपको बताने जा रहे है वो है वो विशेष पोषक तत्व् जो चिया बीज को बहुउपयोगी बनाते है.

इसमें ओमेगा ३ बहुतायत में मिलता है. ये वो ही ओमेगा ३ है जो ह्रदय के स्वास्थ के लिए बहुत जरूरी है.

ख़ास कर जो शाकाहारी लोग है उनके लिए तो ओमेगा ३ के बहुत कम सोर्स होते है. ऐसे में चिया  के बीज बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहे है.

नीचे के चार्ट में हमने चिया  के बीजो में मिलने वाले विभिन्न एमिनो एसिड्स की जानकारिया दी है. इसमें एसेंशियल (जो शरीर नहीं बना सकता) और नॉन एसेंशियल एमिनो एसिड्स की पूरी जानकारी है.

एमिनो एसिड्स  मात्रा (ग्राम प्रति १०० ग्राम )
एसेंशियल एमिनो एसिड्स 
अर्गिनाइन 2.14 ग्राम
हिस्टीडीन 0.53 ग्राम
आइसोलिउसीन 0.8 ग्राम
लिउसीन 1.37 ग्राम
लाइसिन 0.97 ग्राम
मेथिओनीन 0.59 ग्राम
फिनाईलालेनिन 1.02 ग्राम
थ्रेओनीन 0.71 ग्राम
ट्रीप्टोफन 0.44 ग्राम
वलाइन 0.95 ग्राम
नॉन एसेंशियल एमिनो एसिड्स
सिस्टीन 0.41 ग्राम
टाइरोसीन 0.56 ग्राम
ऑलनाइन 1.04 ग्राम
एस्पार्टिक एसिड 1.69 ग्राम
ग्लूटामिक एसिड 3.5 ग्राम
ग्लाइसिन 0.94 ग्राम
प्रोलीन 0.78 ग्राम
सेरीन 1.05 ग्राम

देखा जाये तो इसमें दुनिया भर के एमिनो एसिड्स बहुतायत में पाए जाते है. साथ ही फैटी एसिड्स भी बहुत अच्छी मात्रा में पाए जाते है.

अब हम समझते है चिया  सीड्स के फायदे और उनके उपयोग

(Benefits of chia seeds explained in Hindi)

१- पोषक तत्वों का भण्डार

चिया सीड्स में पोषक तत्वों का भण्डार होता है. बहुत कम चिया सीड्स खा कर भी आप बहुत से पोषक तत्त्व प्राप्त कर सकते है.

अगर आप दिन  में एक चम्मच चिया  सीड्स भी खाते है तो आपको बहुत कम ऊर्जा में बहुत सरे पोषक तत्त्व प्राप्त होंगे जो बाकी किसी भी खाने की वास्तु से अधिक है।

२- त्वचा की सुरक्षा और एजिंग प्रोसेस को नियंत्रीत  करने में

Chia seeds benefits in aging process and skin health in Hindi.

उम्र के साथ साथ त्वचा ढीली पड़ने लगती है. उसमे रूखापन और झुर्रिया अन्य लगती है.

ऐसे में चिया सीड्स बहुत काम आते है.

चिया के बीजो में फेनोलिक तत्व की बहुतायत होती है. और वो भी प्राकृतिक रूप से. ये एक शानदार एंटीऑक्सीडेंट है जो फ्री रेडिकल्स को कण्ट्रोल करता है. उन्हें ख़तम करता है. खास कर उन फ्री रेडिकल्स को जो त्वचा को सबसे ज्यादा नुक्सान पहुंचते है.

इसलिए त्वचा को स्वस्थ रखने और बढ़ाने से रोकने के लिए चिया के बीज बहुत कारगर सिद्धि हुए है.

वैसे भी चिया सीड्स एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते है. ये उन खाद्य पदार्थो में आते है जिनमे बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते है.

नीचे दिया गया चार्ट इस बात को सिद्ध करता है.

anti oxidents in chia seeds

Reference: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6627181/

3- रक्त में ओमेगा ३ को बढ़ता है.

आपने हमारे अन्य आर्टिकल्स पढ़े होंगे तो आप समझ ही गए होंगे की ओमेगा ३ हमारे शरीर एक लिए कितना महत्त्वपूर्ण है.

ये ह्रदय को स्वस्थ रखने और उसकी धड़कनो को कण्ट्रोल करने में भी मदद करता है.

Omega-6 benefits in Hindi | क्या ओमेगा-६ ह्रदय के लिए नुकसानदेह है ?

3. हृदय को स्वस्थ रखने में चिया सीड्स बहुत काम के है.

जैसा पॉइंट २ में बताया गया है की चिया सीड्स में ओमेगा ३ बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है.

साथ ही चिया में कई ऐसे तत्त्व होते है जो शरीर में अंदरूनी सूजन को दूर करते है. कोलेस्टेरोल को भी नियंत्रित करने वाले तत्व चिया में पाए जाते है.

एथेरोस्क्लेरोसिस ह्रदय की एक बहुत ही कॉमन समस्या होती जा रही है. चिया के बीज उससे ह्रदय को बचाते है.

४ – कोलेस्ट्रॉल कण्ट्रोल करने में मदद.

चिया के कई तत्व ऐसे है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल करते है. इससे आपका ह्रदय स्वस्थ रहता है और साथ ही आपमें अच्छे कोलेस्ट्रॉल की वृद्धि होती है.

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से कई अन्य गंभीर समस्याएं शरीर में उत्पन्न होती है।  चिया के बीज उनसे आपको बचाये रखते है.

कोलेस्ट्रॉल को प्राकृतिक रूप से कैसे कण्ट्रोल करे उसके लिए नीचे दिया गया वीडियो देख सकते है. इसको विशाल कुलकर्णी ने बनाया है और ये उनकी रेसिपी केयर नमक चैनल पर उपलब्ध है.

इसमें वो अपना खुद का अनुभव बता रहे है. उनके इस वीडियो How to control cholesterol naturally में आपको हर वो बात मालूम पड़ेगी जो कोलेस्ट्रॉल से सम्बंधित है.

५- उच्चा रक्तचाप

उच्च रक्तचाप एक आम समस्या बन गयी है. इसकी वजह से ह्रदय, किडनी इत्यादि ऑर्गन्स पर बहुत ही अधिक बुरा प्रभाव पड़ता है.

हम प्राकृतिक रूप से अगर बहुत शुरू की अवस्था में रक्तचाप को कण्ट्रोल करना शुरू कर दे तो दवाइया खाने की नौबत ही नहीं आएगी।

ऐसे में चिया बीज बहुत काम की चीज है.

चिया बीज में कई ऐसे तत्त्व पाए जाते है जो रक्तचाप को नियंत्रित करते है. साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स आपकी धमनियों को सुरक्षित रखते है.

६- मोटापा घटने और वजन कण्ट्रोल करने में चिया बीज का उपयोग

ऐसा माना जाता है की चिया के बीज वजन घटने या मोटापा रोकने में मदद करते है. मेरे पास ऐसा कोई एविडेंस नहीं या कोई रिसर्च मुज़हे नहीं मिली जो इस बात को सत्यापित कर सके.

पर चूंकि चिया सीड्स में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में होता है तो हो सकता है की पेट को भरा हुआ महसूस करने में वो मदद करते हो. पर ये सिर्फ एक तर्क है जिसका कोई विशेष आधार नहीं।

ख़ास कर मैं आपके सामने एक स्टडी रखना चाहूंगा जिसमे ये साफ़ तौर पर पाया गया की चिया बीज से वजन घटने में कोई मदद नहीं मिलती.

चिया सीड्स वजन घटने में कोई मदद नहीं करते

सोर्स: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19628108/

हाँ इसमें एक बात जरूर जोड़ देता हु जो शायद अभी तक बहुत शोध का विषय नहीं रही.

चिया बीज पेट में जाते है तो वो पानी के साथ एक लिसलिसा पदार्थ (एक जेल जैसा पदार्थ) बनाते है. इस पदार्थ की वजह भरा हुआ महसूस होता है. साथ ही ये भूख की तेजी को भी कम करता है. हो सकता है ये कारन मोटापा कम करने में कुछ हद तक मदद करते हो.

७- मधुमेह में फायदेमंद

जैसा पहले ही बता चूका हु की चिया सीड्स में काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते है.

ये एंटीऑक्सीडेंट काफी अलग अलग लेवल पर काम करते है. उनमे से एक काम है कोशिकाओं का इन्सुलिन के प्रति जो प्रतिरोध होता है उसको कम करते है.

इसका फायदा ये होता है की आपका ब्लड ग्लूकोस लेवल कण्ट्रोल करने की की क्षमता चिया सीडस में होती है.

इसमें अल्फ़ा लिनोलेनिक एसिड काफी मात्रा में पाया जाता है जो आपके रक्त में वसा को अधिक बढ़ने से रोकता है. डिसलिपिडेमिआ (dyslipidemia) को कण्ट्रोल करने में ये काफी मदद करता है.

पर शुगर कण्ट्रोल एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया है. इसको ध्यान से करे.

जाहिर है की सिर्फ इन बीजो को खाने से काम नहीं चलेगा. इसके लिए एक पूरा जीवन शैली आधारित परिवर्तन जरूरी है.

८ –  पाचन और कब्ज में उपयोग में चिया बीज के फायदे

चिया बीज पेट में जा कर एक जेल नुमा पदार्थ बनाते है. ये मैं ऊपर समझा चूका हु.

पर इसका एक फ़ायदा और होता है की ये अंतड़ियो में आयल की तरह काम करता है. पेट में ये जेल खाने को अवरोधित नहीं होने देता।

इसका मतलब ये है की चिया के बीज में दो गुण मिलकर आपके पाचन को ठीक करते है.

पहला गुण  इसमें बहुत अधिक फाइबर है. ये पेट को एक स्क्रब की तरह साफ़ करता है.

पर फाइबर अक्सर अधिक मात्रा में अवरोध ही उत्पन्न करता है और कब्जियत भी कर सकता है. तो चिया  का दूसरा गुण  जिसमे वो जेल जैसा पदार्थ बनाता है, वो काम आता है. वो फाइबर की वजह से कोई अड़चन आने नहीं देता।

इसलिए कब्ज और पाचन को सुचारु रखने में चिया सीड्स बहुत अच्छा प्रभाव देते है.

९- कैल्शियम का भण्डार और हड्डियों के लिए शानदार

आप २० ग्राम चिया सीड्स खाएंगे तो आपकी रोज की जरूरत का १८% कैल्शियम मिल जायेगा। ये इतने ही दूध से काफी ज्यादा है.

आपको २० ग्राम दूध में सिर्फ दिन का २% कैल्शियम मिलेगा।

साथ ही इसमें बोरोन भी होता है. ये एक धातु है जो दूध में नहीं मिलती। बोरोन ऐसी धातु है जो हड्डियों के स्वस्थ के लिए जरूरी है. ये कैल्शियम को हड्डी मजबूत करने में मदद करती है.

जाहिर है ये दोनों आवश्यक पोषक तत्व है जो आपकी हड्डियों की मजबूती प्रदान करते है.

साथ ही ध्यान रखिये की कैल्शियम कम होने पर आपकी इम्युनिटी भी कम होगी और और भी बहुत सी समस्याएं हो सकती है.

तो रोज एक चम्मच चिया बीज खाने में फ़ायदा ही होगा.

१०- मांसपेशियों के लिए बढ़िया।

चिया सीड्स में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर हटाए है. मांसपेशियों के विकास में ये बहुत मदद करते है.

साथ ही अगर आप जिम जाते है अपनी मसल्स बनाने तो चिया का उपयोग किया कीजिये।

क्योकी जैसा ऊपर बताया गया है की चिया बीज पेट में जा कर एक जेल नुमा तरल पदार्थ बनाते है. जिसकी वजह से पेट में पानी ज्यादा देर तक रिटेंड रहता है.

आप रोज से ज्यादा एक्सरसाइज करेंगे तो भी डिहाइड्रेशन की वजह से फटीग नहीं होगा।

Chia seeds in Hindi (चिया सीड्स इन हिंदी) आर्टिकल में हम और भी बहुत सी जानकारी चिया सीड्स से सम्बंधित डालते रहते है. कृपया इस आर्टिकल को बुकमार्क करके रखे. अगर आपके पास और कोई जानकारी चिया सीड से सम्बंधित हो तो कृपया हमसे शेयर करे.

 

[References: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6627181/]

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top